Mutual Fund Kya Hai In Hindi | म्यूचूअल फंड क्या हैं

इस लेख की रूपरेखा

म्युच्युअल फंड 17वीं सदी के अंत में यूरोप में शुरू हुआ हैं परंतु भारत में यह सन 1963 में भारत सरकार और RBI (रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया) के कड़ी मेहनत के कारण UTI (Unit Trust of India) के स्थापना के साथ म्युच्युअल फंड की शुरूआत हो गई थी। 

म्यूचूअल फंड भी एक तरह का शेयर बाजार जैसा ही हैं जिसमें व्यक्ति अपने पैसे को बढ़ाने के लिए लगाते हैं। परंतु यहाँ इन्वेस्टर को लंबे समय के लिए अपने पैसे को बाजार में लगाना होता हैं और इसके साथ इसमें SIP भी किया जाता हैं।

Mutual Fund Kya Hai In Hindi | म्यूचूअल फंड क्या हैं 

म्युच्युअल फंड जिसे हम हिन्दी भाषा में पारस्परिक निधि कहते हैं। यह एक ऐसा बाजार हैं जहां आप कम समय और लंबे समय के लिए निवेश कर सकते हैं। इसमें आप कम से कम पैसे से भी निवेश कर सकते हैं।

Mutual Fund एक ऐसा बाजार हैं जिसमें नए निवेशक भी आसानी से अपने पैसे को निवेश करके ग्रोव कर सकते हैं।अगर किसी शेयर का भाव बहुत अधिक हैं और आपके पास पर्याप्त पैसे नहीं हैं तो यहाँ पर आप शेयर के सबसे चोटी इकाई को भी खरीद कर निवेश कर कर सकते हैं।

कुछ म्यूचूअल फंड के बारे में दर्शाया गया हैं SBI Mutual Fund और SBI के Contra Fund। म्यूचुअल फण्ड में जो भी पैसा Collect होता हैं उसे AUM (Asset Under Management) कहते हैं।

What is AUM? (एयूएम क्या हैं)

अगर आपने किसी Mutual Fund में निवेश किए हैं उसी प्रकार देश के हजारों लोगों ने भी उस फंड में निवेश किए होंगे। सभी निवेशकों का कुल निवेश + उस पर मिला हूँआ रिटर्न दोनों को मिलाने पर प्राप्त अंक को AUM कहते हैं।

AUM को मैनेज करने वाली कंपनी को AMC के नाम से जानते हैं। AMC यानी Asset Management Company।

म्यूचुअल फंड कितने प्रकार के होते हैं?

Mutual Fund को हम basically दो आधार पर बाट सकते हैं।

  • पहला हैं Asset के आधार पर।
  • दूसरा हैं Structure के आधार पर।

पहला Asset के आधार पर।

Asset के आधार पर Mutual Funds तीन तरह के होते हैं।

  1. Equity Mutual Fund
  2. Debt Mutual Fund
  3. Hybrid Mutual Fund

Equity Mutual Fund In Hindi

ये ऐसे Mutual Fund होते हैं जो Stock Market में Invest करते हैं इसमें Risk और Return ज्यादा होता हैं, किसी और दूसरे म्यूचुअल फंड के तुलना में अगर आपको ज्यादा रिटर्न चाहिए तो आप इस फंड में निवेश कर सकते हैं।

इस फंड में अगर आप निवेश करते हैं और अपने शेयर को 1 साल के बाद बेचते हैं तो आपके टोटल मुनाफे में LTCG (Long Term Cable Tax Gains) के मुताबिक 10% प्रति साल ब्याज लगता हैं।

अगर आप 1 साल के पहले अपने शेयर को बेचते हैं तो आपके टोटल मुनाफे पर STCG (Short Term Cable Tax Gains) के मुताबिक 15% प्रति साल ब्याज लगता हैं।

Debt Mutual Fund In Hindi

ऐसे Mutual Funds को Government Bonds और Treasury Bills में इन्वेस्ट किया जाता हैं। अगर आप चाहते है की आपका पैसा Bonds और Treasury में निवेश हों तो आप Debt Mutual Fund में निवेश कर सकते हैं और इसमें आपका Risk और Return बहुत कम होता हैं Equity Mutual Funds के मुताबिक।

इस फंड में आपके टोटल मुनाफे पर Income Tax Slab के मुताबिक 30% प्रति साल ब्याज लगता हैं।

Hybrid Mutual Fund In Hindi

Equity Mutual Fund और Debt Mutual Fund दोनों में निवेश करते हैं। इस फंड में Risk और Return दोनों generally Equity Mutual Funds से कम और Debt Mutual Funds से ज्यादा होते हैं। अगर आप चाहते हैं की आपके पैसे shares और कुछ bonds दोनों में निवेश हो तो आप Hybrid Mutual Funds में निवेश कर सकते हैं।

दूसरा स्ट्रक्चर के आधार पर

Structure के आधार पर भी Mutual Fund तीन तरह के होते हैं।

  1. Open Ended Mutual Fund
  2. Closed Ended Mutual Fund
  3. Interval Fund

1) Open Ended Mutual Fund

ओपन एंडेड म्यूचूअल फंड जिसे आप कभी भी Buy और Sell कर सकते हैं। इसके अंदर कोई भी Time Period नहीं रहता है। आप इसमें जब चाहे Entry और एग्जिट कर सकते हैं।

2) Closed Ended Mutual Fund

इस तरह के म्यूचुअल फण्ड में हम केवल Mutual Fund के Starting में ही निवेश कर सकते हैं उसके बाद जब तक Mutual Fund का Time Period End नहीं होता तब तक हम ना तो इसमें और Invest कर सकते है और ना ही Sell कर सकते हैं।

3) Interval Fund

ऐसे Mutual Funds में हम buy और sell एक खास interval में ही कर सकते हैं और ये interval म्यूचुअल फंड डिसाइड करते हैं, interval end होने के बाद हम ना तो इसमें buy कर सकते हैं और ना ही sell कर सकते हैं।

म्यूचुअल फंड के लाभ? (Benefits of Mutual Funds)

म्यूचुअल फंड्स में बीना मेहनत किए निवेश कर सकते हैं क्योंकि Mutual Funds के Fund Manager हमारी पैसे को अच्छी से अच्छी Companies में इंवेस्ट करने की कोशिश करते हैं ताकी हमें ईन्वेस्ट्मेंट्स पर ज्यादा से ज्यादा रिटर्न्स मिल सके।

शेयर बाजार में खुद निवेश करने से कम Risky होता हैं म्यूचुअल फंड्स में निवेश करना क्योंकि फंड मैनेजर हमसे कहीं ज्यादा समझदार होते हैं और Risk को हमसे बहुत ज्यादा अच्छे तरह से मैनेज करते हैं।

दोस्तों हम अपने Risk और Returns को ध्यान में रखकर म्यूचुअल फण्ड पसंद कर सकते हैं और इस बाजार में आप ज्यादा समय तक निवेश करते हैं तो आपको अधिक लाभ हो सकता हैं।

1 साल में म्यूचुअल फंड कितना रिटर्न देता है?

म्युच्युअल फंड के 1 साल में रिटर्न की बात करें तो यह 13% से 16% तक का रिटर्न देता हैं परंतु यह एक एवेरेज हैं इससे अधिक और कम भी हो सकते हैं यह आपके Analyse और आपके Calculation के ऊपर निर्भर करता हैं।

अगर आप एक अच्छे कंपनी में निवेश किए हैं और उस कंपनी की ग्रोव होगी तो आपको इससे अधिक भी लाभ प्राप्त हो सकता हैं।

5 साल में म्यूचुअल फण्ड कितना रिटर्न देता हैं?

वैसे तो हम कोई भी फिक्स प्रॉफिट नहीं बता सकते क्योंकि इसमें आपका प्रॉफिट कम और ज्यादा होता रहता है लेकिन फिर भी अगर एक एवरेज मुनाफे की बाद करें तो आपको एनुअल return 10% से 12% तक होता हैं। यह पूरी आपके चयन के ऊपर निर्भर हैं जिस शेयर में आप निवेश किए हैं।

Market में प्राइस Up and Down होते रहते है इसलिए अगर आप उस समय अपना पैसा म्यूचुवल फण्ड में लगाते है जिस समय मार्केट Up के Side में हो तो आपको नुकसान भी हो सकते हैं।

म्यूचुवल फण्ड और स्टॉक में क्या अंतर है?

इसका कोई Fixed answer नहीं है की आपको क्या पसंद हैं, स्टॉक मार्किट म्यूचुवल फण्ड से ज्यादा Risky है इसके लिए आपको जानकारी होना बहुत जरुरी है अगर आप बिना जानकारी के स्टॉक में निवेश करते है तो आपको नुकसान होने की ज्यादा संभावना हैं। इसलिए निवेश करने से पूर्व शोध जरूर करें।

म्यूचुवल फण्ड में आप मिनिमम 100Rs से भी निवेश को स्टार्ट कर सकते हैं। आपको अगर स्टॉक मार्किट के बारे में जानकारी है तो आप इसमें निवेश कर सकते हैं।

टॉप 8 के म्यूचुअल फण्ड कौन से है?

  • एसबीआई म्यूचुअल फंड
  • आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड
  • एचडीएफसी म्यूचुअल फंड
  • डीएसपी ब्लैकरॉक म्यूचुअल फंड
  • आदित्यबिरला सन लाइफ म्यूचुअल फंड
  • म्यूचुअल फंड बॉक्स
  • एलएंडटी म्यूचुअल फंड
  • टाटा म्यूचुअल फंड

सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाला म्यूचुअल फण्ड 2023?

इसके पहले आपको यह Decide करना होगा की आप कितना पैसा निवेश करना चाहते हैं, अपने Risk Capacity को ध्यान में रखकर। पैसा बढ़ाने के लिए Index Funds को एक Smart Option माना जाता है क्योंकि Long-Term में कई Active Funds को beat कर देता हैं।

Index Funds का मतलब हैं, जैसे की Sensex, Nifty 50 को तुलना करते हैं और इनकी परफॉर्मेंस को Match करने की कोशिश करता हैं। Index Fund Low cost, Diversification और Attractive Returns जैसे बेनिफिट्स देते हैं। आइये अब जानते है, टॉप 3 Index Funds पर 5 Years का returns कितना हैं।

1.) HDFC Index BSE Sensex direct growth इस फण्ड का 5 Years CAGR का returns 14.6, 3 Years CAGR returns 17.2% और Expense Ratio 0.2% हैं।

2.) TATA BSE Sensex Index direct इस Fund का 5 Years CAGR का returns 14.6% और 3 Years CAGR returns 17.1% और Expense Ration 0.27% हैं।

3.) Nippon India Index Fund S&P BSE Sensex इस फण्ड का 5 Years CAGR returns 14.7%, 3 years CAGR का returns 17.4% और Expense Ratio 0.15% हैं।

म्यूचुवल फण्ड में निवेश कैसे करें? (How to invest in Mutual Fund in hindi)

आप इसमें दो तरीके से निवेश कर सकते है पहला आप चाहे तो Company के वेबसाइट पर जाकर निवेश कर सकते हैं। लेकिन इस तरीके से आपके बहुत सारा Time Waste होता हैं।

दूसरा तरीका हैं की आप Online Mutual Fund प्लेटफार्म पर जाकर निवेश करें इसमें आप Zero Fees के साथ Direct Plan में भी Invest कर सकते हैं इसमें आपको एक ही जगह पर सरे फंड्स मिल जाते हैं जिससे आपके लिए investing आसान हो जाती हैं।

क्या म्यूचुअल फण्ड बैंक से बेहतर है?

Mutual Fund रिटर्न देने के मामले में Bank से अच्छा Option होता हैं लेकिन हां आपको यह भी ध्यान रखना होगा की आप किस समय पर कौन से Stock select करते हैं।

आप अगर SBI में Fixed Deposit (FD) कराते हैं तो आपको Annual Return 4% से 6% तक का होता हैं यह रिटर्न काफी कम है परन्तु FD के comparison में Risk Capacity बिलकुल Zero रहता है।


FAQs : Mutual Fund Kya Hai

1.) क्या म्यूचुअल फण्ड बैंक से बेहतर है?

Mutual Fund रिटर्न देने के मामले में Bank से अच्छा Option होता हैं लेकिन हां आपको यह भी ध्यान रखना होगा की आप किस समय पर कौन से Stock select करते हैं। आपको म्यूचूअल फंड के अंदर एक सही जानकारी और सही योजना बना कर निवेश करने पर आप ज्यादा से ज्यादा मुनाफा ले सकते हैं।  

2.) म्यूचुवल फण्ड और स्टॉक में क्या अंतर है?

इसका कोई Fixed answer नहीं है की आपको क्या पसंद हैं, स्टॉक मार्किट म्यूचुवल फण्ड से ज्यादा Risky है इसके लिए आपको जानकारी होना बहुत जरुरी है अगर आप बिना जानकारी के स्टॉक में निवेश करते है तो आपको नुकसान होने की ज्यादा संभावना हैं। इसलिए निवेश करने से पूर्व शोध जरूर करें।

3.) AUM क्या होता है?

जैसे आपने किसी Mutual Fund में निवेश कर रखा हैं उसी प्रकार देश के हजारों लोगों ने उसी फंड में निवेश कर रखा हैं। सभी निवेशकों का कुल निवेश + उस पर मिला हूँआ रिटर्न दोनों को मिला दो वही AUM कहलाता हैं।

4.) म्यूचुअल फंड में नुकसान कब होता है?

म्युच्युअल फंड अगर नजारे बना कर नहीं रहते हैं तो आपको इस कारण से Loss हो सकता हैं। इसके साथ जब बाजार में गिरावट आती हैं तो लॉस होगा इसलिए बाजार में नजर रखे और गिरावट होने से पहले अपना मुनाफा निकालने की कोशिश करें।

निर्देश (Coclusion)

Mutual Fund Kya Hai में अपने Personal Experience के Base पर यह बताना चाहता हूँ की अगर आप म्यूचूअल फंड या स्टॉक मार्केट में invest करने की सोच रहे है तो में Recommend करूँगा की आप पहले इसके बारे में अच्छे से समझ ले क्योकि इसमें काफी सारी बाते आपको जाननी बहुत जरुरी हैं।

इस ब्लॉग में म्यूचुवल फण्ड से जुड़ी सारे टॉपिक्स को कवर किया गया हैं ताकि आप आसानी से समझ पाए। दोस्तों अगर आपको मेरा यह लेख पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे ताकि कमेंट वो लोग भी Mutual Fund में निवेश कर सके।

Manish Tiwari

मेरा नाम मनीष तिवारी हैं और मैं B.Com का छात्र हूं। मैं इसके साथ Money Finance Info ब्लॉग का फाउंडर भी हूँ। फाउंडर होने के साथ−साथ मैं अपने ब्लॉग पर लेखक के रूप में काम भी करता हूं जहां क्रेडिट कार्ड के बारे में सही और सटीक जानकारी प्रदान की जाती है।

2 thoughts on “Mutual Fund Kya Hai In Hindi | म्यूचूअल फंड क्या हैं”

Leave a Comment