Option Trading In Hindi | ऑप्शन ट्रैडिंग के बारे में

शेयर मार्केट के बारे में तो जरूर आप लोग सुने होंगे हो सकता हैं आप में बहुत से लोग इसे इस्तेमाल भी किए होंगे और आप ही बीच से कोई व्यक्ति मुनाफा कमाए होंगे और वही किसी व्यक्ति ने नुकसान कमाए होंगे इसलिए आज के इस लेख में आपको ऐसी रणनीती के बारे में बताया गया हैं जिससे अपना कर आप Daily मुनाफा कमा सकते हैं.

Option Trading In Hindi के बारे में जानकर आप रोज मुनाफा कर सकते हैं यह स्ट्रैटिजी कैसे काम करता हैं और इसको कैसे इस्तेमाल करना हैं और इसके साथ ही आप जानेंगे की CE Option और PE Option क्या होता हैं. नीचे के लेख में आपको इस स्ट्रैटिजी के बारे बिल्कुल बेसिक से बताया गया हैं और उदाहरण के साथ चीजों को दर्शाया गया हैं इसलिए आप इस लेख को ध्यान से समझकर पढ़ें.


ऑप्शन ट्रैडिंग क्या होता हैं? What is Option Trading In Hindi?

आपने हमेशा देखा होगा की शेयर बाजार में कोई व्यक्ति SIP करता हैं तो कोई व्यक्ति नॉर्मल ट्रैडिंग करता हैं. परंतु Option Trading में ऐसा नहीं होता आप यहाँ पर बाजार ऊपर जाता हैं तभी मुनाफा कमा सकते हैं और बाजार नीचे के तरफ जाता हैं तभी मुनाफा कमा सकते हैं. लेकिन आप में से बहुत से लोग यह रणनीति को जानते होंगे या जानना चाहते होंगे.

Option Trading In Hindi एक ऐसा ट्रैडिंग है जिसके अंदर आप कान्ट्रैक्ट के जरिए ट्रैड करते हैं और उस कान्ट्रैक्ट का एक समय निर्धारित रहता हैं उस समय पर कान्ट्रैक्ट के डील को समाप्त किया जाता हैं.

अगर आप बाजार में बिल्कुल नए हैं तो आपके लिए समझना थोड़ी जटिल हो सकती हैं परंतु अगर आप बताए रणनीती के जरिए प्रयास करते हैं तो आपके लिए भी यह धीरे-धीरे सरल हो जाता हैं. आप लोगों को और बेहतर तरीके से सीखने के लिए इस लेख में आपको बिल्कुल बेसिक से सिखाया गया हैं जिससे आप भी यह रणनीति अपना सकते हैं.

हम बात कर रहे हैं Option Trading In Hindi की इस Option Trading में आप दो तरीके से Trading कर सकते है इसमें दो तरह के Option होते हैं-

Option Trading In Hindi में CE Option और PE Option क्या हैं?

1.) CE Option :- CE Option को आप Call Option भी बोल सकते हैं. इसका मतलब होता हैं अगर आपको लगता हैं बाजार ऊपर (Up) की ओर जाएगा तो आप Call Option में ट्रैड करेंगे. इस और अच्छे से समझने के लिए नीचे उदाहरण को दर्शाया गया हैं. 

उदाहरण:-

जैसे माल लीजिए NIFTY 50 का शेयर हैं जिसका प्राइस 100 रु हैं और आपको लगता हैं की यह शेयर का भाव बढ़कर 105 होने वाला हैं तो आप ऑप्शन ट्रैडिंग में NIFTY 50 16000 CE नाम का शेयर खरीदेंगे.

2.) PE Option :- PE Option को आप Put Option भी बोल सकते हैं. इसका अर्थ हैं अगर आप बाजार को देखते हैं और आपको लगता हैं की बाजार नीचे (Down) आने की संभावना हैं तो आप Put Option की खरीदारी करेंगे यानी आपको मुनाफा तब होगा जब बाजार नीचे आएगा. नीचे इसके लिए एक उदाहरण को दर्शाया गया हैं-

उदाहरण:-
जैसे मान लीजिए NIFTY 50 का एक शेयर हैं जिसका कीमत 100 रु हैं अगर आप के Analysis से आपको लग रहा हैं की यह शेयर का भाव 100 रु से गिरकर 95 रु होगा तो आप ऑप्शन ट्रैडिंग में NIFTY 50 16000 PE नामक शेयर की खरीदारी करेंगे.

ध्यान देने वाली पॉइंट :-

अगर आप इस ऑप्शन के जरिए बाजार में ट्रैड करते हैं तो इसके जरिए आप केवल European Contract के अंदर ट्रैड करते हैं क्योंकि CE (Call) और PE (Put) Option के माध्यम से आप केवल European Contract Deal कर सकते हैं.

ऑप्शन ट्रैडिंग एक जोखिम रणनीति हैं इसलिए आपको पहले सीखने की जरूरत हैं आप अपने रिस्क के डिफाइन करके उतने अमाउन्ट से शिखना शुरू कर सकते हैं जितना आपको लॉस होने पर किसी प्रकार की परेशानी ना हो.

आपको टेक्निकल एनलाइसिस करने आना चाहिए जिसमें आप चार्ट को देखकर समझ सकते हैं की बाजार किस तरफ जा सकती है.

Option Trading Kaise Karte Hai (ऑप्शन ट्रैडिंग कैसे करें)

ऑप्शन ट्रैडिंग करने के लिए आपके पास एक Demat Account होना आवश्यक हैं उसके बाद आप पैसा डिपॉजिट करके ट्रैडिंग स्टार्ट कर सकते हैं.

  • ऑप्शन ट्रैडिंग करने से पहले आपको टेक्निकल एनलाइसिस करके एक स्ट्रैटिजी बनाना होगा तभी आप ऑप्शन ट्रैडिंग से मुनाफा बना सकते हैं.
  • और सबसे जरूरी बात आप अपना Stop Loss (SL) और Take Profit (TP) को सेट कर के ट्रैडिंग करने से एक सफल ट्रैडर माना जाता हैं.
  • इसी के साथ नीचे के लेख में जरूरी Indicator बताए गये हैं और कैसे काम करते हैं यह ज्यादा तर आपको मुनाफा दिल सकते हैं आईए इन्हें अच्छे से समझते हैं.

RSI Indicator : जब आप Trading View को ओपन करेंगे तो वहाँ पर आप RSI Indicator Search करेंगे तो आपको यह देखने को मिल जाएगा. इस ओपन करने के बाद कुछ सेटिंग करनी होगी जिसमें RSI Upper Band को 70 पर सेट करना हैं और RSI Lower Band को 30 पर सेट करना हैं और Middle Band 50 पर.

Option Trading In Hindi

RSI Indicator को Analysis करने के लिए आपको सबसे ज्यादा Upper और Lower Side के लाइन को देखना चाहिए.

अगर अपर साइड लाइन के ऊपर ग्राफ चला जाता हैं तो इससे यह पता चलता है की मार्केट में अब Over Buying हो चुका है अब यहाँ पर Buyer सेल कर सकते हैं और बाजार को नीचे लाने की कोशिश करेंगे लेकिन आपको एंट्री लेने के लिए Upper Band को Resistance बनने की प्रतीक्षा करनी हैं उसके बाद PE Option को Buy करना हैं. इससे आपको सही एंट्री और ज्यादा मुनाफा मिल सकता हैं.

इसके साथ अगर बाजार Lower Band के नीचे ग्राफ जाता है तो यहाँ यह समझ आता हैं की बाजार में Over Selling हो चुका हैं अब यहाँ से Buyer Entry ले सकते हैं और उसके बाद आप अपना CE Option को Buy कर सकते है.

अगर आप केवल RSI का इस्तेमाल करके इसके हर एक मूवमेंट को सिख लेते हैं तो आप बहुत मुनाफा कमा सकते हैं लेकिन ध्यान रहे अगर आप नए हैं तो आपको सबसे पहले सीखना होगा. ऐसे ही कुछ Share Market Tips in Hindi को जाने.

Option Trading Strategy In Hindi

ऑप्शन ट्रैडिंग करने से पहले आपको सही तरीकों के बारे में पता हो चाहिए इसके साथ आपको सबसे जरूरी अपने पेसन्स को कंट्रोल करना होगा और अपने रणनीति पर विश्वास रखना होगा. ऑप्शन ट्रैडिंग करने के लिए आपको अपने लिए एक नियम बनाने होंगे. नीचे आपको और रणनीति के बारे में साझा किया गया हैं.

  1. ट्रैडिंग के आपको पहले चार्ट को देखना मार्केट के मूड को पहचानना चाहिए और उसके साथ अपना स्ट्रैटिजी तैयार करना चाहिए.
  2. आपको मार्केट से जुड़ी न्यूज पर भी ध्यान देना चाहिए क्योंकि मार्केट का मूड कभी भी बदल जाता है अगर कोई बुरी या अच्छी न्यूज आती हैं तो इसलिए ट्रैडिंग के साथ आपको न्यूज पर भी ध्यान देना होता हैं.
  3. आपको लालच से बचना चाहिए और अपने रणनीति के ऊपर विश्वास रखना चाहिए.
  4. आप कभी भी एक Confirmation के ऊपर ट्रैड ना करें जब आपको 2 से 3 Confirmation Candle बनता दिखे तभी आप ट्रैड करें इससे आप सही ट्रैड को चुन सकते हैं.

FAQs अक्सर पूछे जाने वाले महत्वपूर्ण प्रश्न

Q.1) ऑप्शन ट्रेडिंग क्या है और कैसे करें? What is Option Trading and how to do it?
Ans.) ऑप्शन ट्रैडिंग एक ऐसा कान्ट्रैक्ट हैं जिसे लेने के लिए खरीदारों और विक्रेताओ तो कुछ प्रीमियम देना होता हैं अपने कान्ट्रैक्ट की सिक्युरिटी के लिए और यह लिमिट समय के लिए कान्ट्रैक्ट को डील किया जाता हैं. इसे ट्रैड करने के लिए आपको सबसे एक डिमेट अकाउंट को खुलवाना होता हैं और उसके बाद आप ऑप्शन ट्रैडिंग के अंदर Call या Put विकल्प के जरिए क्रय और विक्रय आसानी से कर सकते हैं.

Q.2) ऑप्शन ट्रेडिंग में लाभ कैसे प्राप्त करें? How to make profit in Option Trading?
Ans.) Option Trading In Hindi में लाभ कमाने के लिए नीचे कुछ स्टेप को दर्शाये गये हैं-

  1. अगर आपको ज्यादा लाभ कमाने हैं तो उसके लिए आपको छोटे नुकसान लेने की स्ट्रैटिजी अपनानी होगी. 
  2. ऑप्शन ट्रैडिंग को सीखना शुरू करें तभी आप यहाँ पर मुनाफा कमा सकते हैं.
  3. ऑप्शन ट्रैडिंग को एक बिजनस की तरह देखें और पेसन्स रखे.
  4. ऑप्शन में ट्रैडिंग करने के लिए चार्ट को अनलाइस करें और स्ट्रैटिजी बनाए.
  5. अपनी रणनीती बनाए.
  6. शुरुवात में आपको छोटी क्वानटिटी के साथ स्टार्ट करना सही रहता हैं.
  7. अपना रिस्क एण्ड रिवार्ड को मैनेज करें.

Q.3) क्या मुझे ऑप्शन ट्रेडिंग करनी चाहिए? 
Ans.) अगर आप इनवेस्टमेंट और ट्रैडिंग में रुचि रखते हैं और रिस्क लेना जानते हैं इसके बारे में जानकारी रखते हैं तो आप ऑप्शन ट्रैडिंग कर सकते हैं.

Q.4) क्या हम 1000 रुपये से ऑप्शन ट्रेडिंग कर सकते हैं?
Ans.) अगर आप 1000 रु रोज कमाना चाहते हैं तो यह ऑप्शन ट्रैडिंग बिल्कुल संभव हैं लेकिन ध्यान रहे इसमें रिस्क भी है यहाँ आप अपना पैसे को नुकसान भी कर सकते हैं. इसके लिए आपको पहले सीखने की आवश्यकता हैं. इसके लिए अगर आप 1 लाख रु से कम से भी शुरू करते हैं तो आसानी से रोज का 1000 रु कमा सकते हैं.

Q.5) ऑप्शन ट्रेडिंग सीखने का सबसे अच्छा तरीका क्या है?
Ans.) अगर आप Option Trading In Hindi सीखना चाहते हैं तो इसके कॉल और पुट ऑप्शन, स्ट्राइक प्राइस, चार्ट अनलाइसिस को देखना चाहिए. इसके साथ आप यूट्यूब के ऊपर विडिओ को देख सकते हैं और सबसे बढ़िया तरीका अगर आप डेमो ट्रैडिंग करके भी सिख सकते हैं.

निष्कर्ष (Conclusion)

दोस्तों के इस लेख में आपको Option Trading In Hindi से जुड़ी सारी जानकारी को साझा किया गया हैं जिससे आपको ऑप्शन ट्रैडिंग करने में आसानी होगी और आप ज्यादा लाभ कमा पाएंगे. यहाँ पर आपको ऑप्शन ट्रैडिंग क्या हैं और इसे किस प्रकार किया जाता हैं कैसे यहाँ पर डेली मुनाफा कमा सकते हैं आदि जानकारी को सरल भाषा में आपके लिए प्रस्तुत किया गया हैं.

अगर आपको ऑप्शन ट्रैडिंग का यह लेख पसंद आया हो तो इस लेख को अपने दोस्तों के साथ जरूर साझा करें और यह सुनिश्चित करें की आपको इस लेख की वजह से आपके ट्रैडिंग में बदलाव आया हैं. ऐसे ही शेयर बाजार और फाइनैन्स से जुड़ी सरल भाषा में जानकारी को पाने के लिए इस वेबसाईट को जरूर लाइक करें.

Manish Tiwari

मेरा नाम मनीष तिवारी हैं और मैं B.Com का छात्र हूं। मैं इसके साथ Money Finance Info ब्लॉग का फाउंडर भी हूँ। फाउंडर होने के साथ−साथ मैं अपने ब्लॉग पर लेखक के रूप में काम भी करता हूं जहां क्रेडिट कार्ड के बारे में सही और सटीक जानकारी प्रदान की जाती है।

Leave a Comment