SBI क्रेडिट कार्ड के नियम एवं शर्तें | SBI Credit Card Ke Rule And Condition Hindi

क्रेडिट कार्ड में दिए गये सुविधाएं और असुविधाएं के पीछे निम्न प्रकार के Term और Condition होते हैं जिसके बारे में यूजर को पता नहीं होता हैं, इसलिए आज SBI क्रेडिट कार्ड के नियम एवं शर्तें के लेख में बताया गया हैं की SBI Bank क्रेडिट कार्ड के जरिए जो बेनीफिट दिया जाता हैं उसके पीछे क्या-क्या नियम लागू होते हैं.

लेख में दिया गया सभी जानकारी एसबीआई के अधिकारीक वेबसाईट पर मिल जाएगा परंतु हो सकता हैं आपको वहाँ बेहतर तरीके से समझ ना आये क्योंकि वहाँ जानकारी को कठिन भाषा में दर्शाया गया होगा. परंतु यहाँ आपको बिल्कुल सरल भाषा में जानकारी को साझा किया गया हैं जिसे एक छोटा बच्चा भी समझ सकता हैं.

मैं अपने द्वारा दर्शाये गये लेख से यह कामना करता हूँ की इस लेख को पढ़ने के बाद आपको किसी और लेख को पढ़ने की आवश्यकता नहीं होगी तो आइए SBI क्रेडिट कार्ड के नियम एवं शर्तें के लेख को शुरू करते हैं.


SBI क्रेडिट कार्ड के नियम एवं शर्तें | SBI Credit Card Ke Niyam Aur Sharte

SBI Bank की द्वारा सभी क्रेडिट कार्ड के नियम एवं शर्ते के लिए दर्शाये निम्न प्रकार हैं, जो नीचे के लेख में प्रस्तुत किया गया हैं –

SBI क्रेडिट कार्ड के नियम एवं शर्तें

1.) फीस और शुल्क (Fees and Charges In Hindi)

क.) वार्षिक और नवीनीकरण शुल्क (Annual  & Renewal Fees):
SBI क्रेडिट कार्ड के लिए वार्षिक शुल्क और नवीनीकरण शुल्क SBI Bank के द्वारा निर्धारित किया जाता हैं. वार्षिक शुल्क कार्ड धारक से साल में एक बार लिया जाता हैं.

ध्यान रहे यह शुल्क अलग-अलग क्रेडिट कार्ड के लिए अलग-अलग हो सकते हैं और निम्न क्रेडिट कार्ड में यह शुल्क बिल्कुल मुफ़्त होते हैं इसके साथ इन क्रेडिट कार्ड के निम्न EMI Interest Rate होते हैं.

यह शुल्क सीधे कार्ड धारक के खाते से काट लिया जाता हैं और जिस महीने में आपसे चार्ज लिया जाता हैं उसी माह के पेमेंट के बिल में जोड़ कर जारी किया जाता हैं. इसके साथ अगर कार्ड धारक किसी और दूसरे कार्ड के लिए आवेदन करते हैं तो उस क्रेडिट कार्ड का शुल्क अलग से लिया जाता हैं.

ख.) नकद अग्रिम शुल्क (Cash Advance Fees): 
कार्ड धारक को अगर किसी घरेलू सामान खरीदने और अंतर्राष्ट्रीय एटीएम से पैसा निकालने के लिए अपने कार्ड का इस्तेमाल कर सकते हैं. इस स्थिति में Bank आपके निकाली गई अमाउन्ट पर कुछ % का चार्ज लगाता हैं जिसे आपको अगले महीने के बिल में प्रदर्शित किया जाता हैं.

घरेलू सामान खरीदने के लिए बैंक आपसे 2.5% और अधिकतम 500 रु का शुल्क लेती हैं इसमें से जो भी अधिक होगा वह चार्ज किया जाएगा. इसके अलावा अगर आप अंतर्राष्ट्रीय एटीएम से पैसा निकलते हैं तो इस स्थिति में भी बैंक आपसे 2.5% और ज्यादा से ज्यादा 500 रु जो अधिक होगा.

यह शुल्क एसबीआई कार्ड्स एंड पेमेंट सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड (एसबीआईसीपीएसएल) के ऊपर निर्भर करता हैं. यह जब चाहे इनमें अपने हिसाब से बदलाव भी कर सकते हैं.

आप जिस एटीएम से पैसा निकालते हैं उस दिन से ही आपको निकाले गये राशि पर ब्याज देना होता हैं और इसमें आपको किसी प्रकार की ब्याज छूट नहीं दी जाती हैं.

ग.) नकद भुगतान शुल्क (Cash Payment Fee): 
कार्ड धारक अपने क्रेडिट कार्ड की बकाया को भुगतान करने के लिए अपने नजदीकी SBI Bank के किसी भी शाखा में जाकर पे-इन स्लिप पर कार्ड नंबर और अपने बकाया अमाउन्ट को प्रदर्शीक करके स्लिप को शाखा काउन्टर पर जाकर जमा करके अपने बकाये को भुगतान कर सकते हैं.

अगर आप शाखा में जाकर पे-स्लिप की मदद से अपनी बकाये राशि को जमा करते हैं तो इस स्थिति आपको पेमेंट रसीद प्राप्त हो जाती हैं. इस प्रक्रिया की मदद से बकाया भुगतान के लिए आपसे 250 रु शुल्क के रूप में लिया जाता हैं.

घ.) प्रभार (Charges): 
एसबीआई क्रेडिट कार्ड धारक को अपने कार्ड में लगने वाले निम्न शुल्क को समय से भुगतान करना पड़ता हैं यह शुल्क एसबीआईसीपीएसएल के द्वारा निम्न लाभों को प्रदर्शित करने के लिए शुल्क प्रदान किया जाता हैं.

क्रेडिट कार्ड के शुल्क या किसी प्रकार की फीचर में बदलाव करने का पूर्ण अधिकार हैं यह आपके क्रेडिट कार्ड के शुल्क में बदलाव करने से पहले आपको सूचित किया जाता हैं.

ड़.) ब्याज मुक्त अनुग्रह अवधि (Interest Free Grace Period): 
कार्ड धारक को क्रेडिट कार्ड की मदद से किए गये खर्चे पर 20 से 50 दिनों तक मुफ़्त ब्याज लाभ दिया जाता हैं अगर आप इस अवधि के पहले अपने क्रेडिट कार्ड के द्वारा किए गये खर्चे को वापस दे देते हो तो आपके ऊपर कोई भी शुल्क नहीं लगाया जाएगा. परंतु अगर आपने क्रेडिट कार्ड की बकाया को समय से भरपाई नहीं कर पाए तो आपको ब्याज मुक्त लाभ प्राप्त नहीं होगा.

च.) वित्त प्रभार (सेवा शुल्क) (Finance Charges (Service Charges): 
अगर किसी कार्ड धारक द्वारा अपने क्रेडिट कार्ड के जरिए किए गये लेन-देन को समय से नहीं चुकाते हैं तो इस स्थिति में मासिक ब्याज दर पर वित्त प्रभार (सेवा शुल्क) लगाया जाता हैं. क्रेडिट कार्ड के पेमेंट को समय से ना चुकाने पर 3.50% प्रति माह (42% प्रति वर्ष) शुल्क लगाया जाता हैं.

यह एसबीआई कार्ड एंड पेमेंट सेवाएं लिमिटेड (एसबीआईसीपीएसएल) के ऊपर निर्भर करता हैं. कार्ड के लेन-देन पूरा ना होने पर प्रति माह आपसे शुल्क लिया जाता हैं जब तक आप अपने बकाया पूरा नहीं करते तब तक आपसे शुल्क लिया जाता हैं.

अगर क्रेडिट कार्ड से किया गया खर्च के अमाउन्ट को समय से बैंक को पेमेंट नहीं किया जाता और इस कार्य काल में अगर कार्ड धारक ATM मशीन से पैसा निकालते हैं तो प्रकार के सभी लेनदेन पर कम से कम 25 रु का वित्त शुल्क लगाया जाता हैं.

छ.) विलंबित भुगतान शुल्क (Late Payment Charges): 
क्रेडिट कार्ड की लेट पेमेंट करने पर निम्न प्रकार की लेट पेमेंट शुल्क हैं –

  • रु 0 से 500 रु तक लेट पेमेंट पर → शून्य शुल्क राशि हैं.
  • 501 रु से 1000 रु तक के लेट पेमेंट पर → 400 रु का शुल्क लगता हैं.
  • 1001 रु से 10,000 रु के लेट पेमेंट करने पर → 750 रु का शुल्क देना पड़ता हैं.
  • 10,001 रु से 25,000 रु के लेट पेमेंट पर → 950 रु का शुल्क लगता हैं.
  • 25,001 रु से 50,000 रु तक लेट पेमेंट पर → 1100 रु शुल्क हैं.
  • 50,000 से अधिक लेट पेमेंट पर → शुल्क राशि 1300 रु रखा गया हैं.

अगर आपका न्यूनतम देय राशि लगातार दो बार (MAD) का भुगतान नहाई किया जाता हैं तो इस स्थिति में आपको अन्य लेट पेमेंट शुल्क देना होगा. यह शुल्क तब तक लगाया जाएगा जब तक आपका (MAD) का भुगतान पूरा नहीं हो जाता.

ज.) ओवर लिमिट फीस (Over limit Fees): 
SBI Credit Card की मदद स ग्राहक अपने कार्ड की लिमिट से ज्यादा का भी अमाउन्ट यूज कर सकता हैं बैंक अपने ग्राहकों को ओवर लिमिट अमाउन्ट यूज करने का बेनीफिट देता हैं लेकिन इसके लिए एसबीआई बैंक के कार्ड धारक को ओवर लिमिट फीस भी देना पड़ता हैं यह फीस आपको 2.5% या ₹ 600 में से जो अधिक होगा आपको उतने अमाउन्ट का शुल्क देना होगा.

झ.) भुगतान अनादर (Payment Dishonor): 
कोई भुगतान अस्वीकृत होने पर, कार्ड धारक से भुगतान राशि का 2% और न्यूनतम 500 रु का अनादर शुल्क लिया जाता हैं.

ज्ञ.) अन्य शुल्क (Other Charges):

रिवॉर्ड रिडेम्पशन शुल्क : उपहार, नकद मोचन और विशिष्ट वाउचर पर कार्ड धारक द्वारा 99 रु का शुल्क लिया जाता हैं.
कार्ड बदलना : ₹100/ – ₹250/- (ऑरम के लिए ₹1,500/-) यह शुल्क हैं.
विवरण पुनर्प्राप्ति शुल्क : अगर आपका स्टेटमेंट 2 मंथ से पुराना हैं तो प्रति स्टेटमेंट के लिए 100 रु का शुल्क निर्धारित हैं.
चेक भुगतान शुल्क : 100 रु
विदेशी मुद्रा लेनदेन करने पर शुल्क : एलीट और ऑरम कार्ड को छोड़कर बाकी सभी कार्ड्स के लिए 3.5% का शुल्क हैं और केवल एलीट और ऑरम कार्डधारकों के लिए 1.99% का शुल्क रखा गया हैं.

2.) सीमाएं (Limts)

कार्ड धारक के क्रेडिट लिमिट और कैशबैक को एसबीआईसीपीएसएल के जरिए निर्धारित की जाती हैं. प्राथमिक कार्ड धारक के जरिए जो ऐड ऑन कार्ड निर्मित होती हैं उस क्रेडिट कार्ड की लिमिट प्राथमिक कार्ड के बराबर होता हैं. इन मानदंडों के बारे में कार्ड धारक को कार्ड डिलीवरी के समय सूचित किया जाता हैं.

इसके साथ जो धारक के कार्ड का क्रेडिट लिमिट और कैश लिमिट की जानकारी उनके बिल Statement के साथ दी जाती हैं. कार्ड धारक के क्रेडिट स्कोर को बढ़ाने या घटाने की अधिकार एसबीआईसीपीएसएल को पूरी प्राप्त होता हैं यह आपके खाते की समीक्षा भी कर सकते हैं.

यदि आप अपना क्रेडिट स्कोर बढ़ाना चाहते हैं इसके लिए आपको एसबीआईसीपीएसएल सूचित करना होगा और अपने आय प्रमाण को दिखा कर यह आसानी से किया जा सकता हैं. SBI एसबीआईसीपीएसएल आपके द्वारा प्राप्त किए गये दस्तावेजों के आधार पर आपकी क्रेडिट सीमा को बढ़ाया जा सकता हैं.

3.) बिलिंग और स्टेटमेंट (Billing and Statement)

क.) कार्ड धारक जब भी अपने क्रेडिट कार्ड के जरिए खर्च करता हैं तो उस खर्च किए गए अमाउन्ट को एसबीआईसीपीएसएल के द्वारा बिल में परिवर्तित किया जाता हैं और लेनदेन के स्टेटमेंट को कार्ड धारक को दिखाया जाता हैं. इस स्टेटमेंट को एसबीआईसीपीएसएल के जरिए कार्ड धारक के पास डाक पते पर या रजिस्टर ईमेल आइडी पर भेज दिया जाता हैं.

ख.) कार्ड धारक के द्वारा अपने क्रेडिट कार्ड की मदद से किए गये लेनदेन की बिल या स्टेटमेंट की सुविधा के लिए एसबीआईसीपीएसएल के द्वारा 5% या 200 रु जो अधिक होगा यह शुल्क लगाया जाता हैं, यह न्यूनतम शुल्क सेवाओं को जारी रखने के लिए भुगतान करना होता है.

ग.) एसबीआई क्रेडिट कार्ड के बिल की भुगतान के लिए निम्न तरीके को दर्शाया गया हैं –

  • कार्ड धारक अपने क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान करने के लिए अधिकारीक वेबसाईट sbicard.com पर लॉगिन करके/नेट बैंकिंग अथवा किसी भी एसबीआई एटीएम में अपनें डेबिट कार्ड की मदद से आसानी से बिल भुगतान कर सकते हैं.
  • जब भी बिल के स्टेटमेंट को डाक पते या ईमेल के जरिए भेज जाता हैं उसमें एसबीआई का एक डाक पता दिया गया होता हैं कार्ड धारक अपने बिल की भुगतान उस डाक पते पर चेक या ड्राफ्ट की मदद से भुगतान कर सकते हैं.
  • क्रेडिट कार्ड के बिल को भुगतान करने के लिए धारक अपने नजदीकी एसबीआई शाखा में जाकर भी बिल भुगतान आसानी सेकर सकते हैं.
  • किसी विशेष शहर में इलेक्ट्रॉनिक क्लीयरिंग सिस्टम का सुविधा होता हैं आप इसके मदद से भी बिल भुगतान कर सकते हैं. परंतु यह सुविधा कुछ गिने-चुने शहरों में ही हैं.

घ.) बिलिंग विवाद : अगर आपके बिल स्टेटमेंट में किसी भी प्रकार कोई विवाद होता हैं तो इसकी आपको 25 दिन के भीतर एसबीआई सीपीएसएल को देना होता हैं. अगर कार्ड के तरफ से विवाद की सूचना 25 दिन के भीतर नहीं दी जाती हैं तो यह समझ जाएगा की कार्ड धारक को किसी प्रकार की कोई शिकायत नहीं हैं.

4.) चूक (Default)

यदि क्रेडिट धारक के द्वारा क्रेडिट कार्ड की बिल भुगतान में कोई चूक होती हैं और समय से भुगतान नहीं होता हैं तो इस स्थिति में कार्ड धारक को समय-समय पर क्रेडिट कार्ड की बकाया को भुगतान करने के लिए डाक, फैक्स, टेलीफोन, ईमेल, एसएमएस आदि के जरिए सूचित किया जाता हैं.

इस परिस्थिति में बैंक के द्वारा बकाया राशि को वसूली करने के लिए एक तीसरा पक्ष व्यक्ति को इन्वाइट किया जाता हैं जो बकाया राशि को वसूलने के लिए कार्य करता हैं.

बैंक के द्वारा बकाया राशि को वसूली करने के लिए किसी विशेष कदम लेने से पहले कार्ड धारक को एक माह नोटिस भेज जाता हैं ताकि आसानी से बकाया को भुगतान कर दे.

एसबीआईसीपीएसएल के जरिए क्रेडिट कार्ड के डाटा को प्रति माह क्रेडिट इनफॉरमेशन कंपनी के अपने डाटा को देती हैं इस कंपनी में दिए गये को उनके सर्वर में 30 दिनों के भीतर अपलोड करना होता हैं.

5.) कार्ड धारक की समाप्ति / निरसन (Termination / Revocation of Cardholder)

क.)

  • क्रेडिट कार्ड धारक अपने क्रेडिट कार्ड को बंद करने हेतु एसबीआईसीपीएसएल को किसी भी समय इन्हें पत्र लिखकर या एसबीआई कार्ड के हेल्प लाइन नंबर पर कॉल करके अपने क्रेडिट कार्ड को बंद करने की अनुमति दे सकते हैं.
  • इसके साथ एड-ऑन कार्ड को भी बंद कर दिए जाएंगे.
  • क्रेडिट कार्ड को बंद करते समय अगर उनके कार्ड में किसी प्रकार कोई बकाया हैं तो सबसे पहले उन्हें बकाया राशि को भुगतान करना होगा.
  • क्रेडिट कार्ड को बंद करते समय ध्यान रहे कार्ड अप्लाई करते समय लिया गया वार्षिक शुल्क, जॉइनिंग शुल्क अथवा नवीनीकरण शुल्क को वापस नहीं किए जाते.

6.) कार्ड की हानि/चोरी/दुरुपयोग (Loss / Theft / Misuse of Card)

क.) अगर कार्ड धारक की क्रेडिट कार्ड गुम हो जाता हैं, चोरी हो जाता हैं या फिर धारक को यह लगता हैं की उनके अनुमति के बिना अपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल किया जा रहा है.

तो इस स्थिति में आपको एसबीआई हेल्प लाइन नंबर (आधिकारिक वेबसाईट पर जाए) से संपर्क करके सूचित कर सकते हैं. जब आपका कार्ड मिल जाता हैं तो धारक को इसे किसी भी परिस्थिति में इसका इस्तेमाल नहीं करना चाहिए और कार्ड को तिरक्षा दो भागों में काट देना चाहिए.

ख.) एसबीआई सीपीएसएल को कार्ड गुम हो जाने की सूचना देने से पहले अगर खाता से किसी प्रकार की निकासी या कोई चोरी होती हैं तो इसके एसबीआई सीपीएसएल भागीदार नहीं होगा.

इसकी जिम्मेदारी पूरी तरह से कार्ड धारक की होती हैं. परंतु जब आप अपने क्रेडिट कार्ड की चोरी होने का सूचना बैंक को दे देते हैं उसके अगर किसी प्रकार की धोखा धड़ी या चोरी होती हैं तो इस स्थिति में बैंक पूरी तरह जिम्मेदार होगा.

8.) शुल्क की अनुसूची (Schedule of Charges)

क.) शुल्क (Fees)

  • वार्षिक शुल्क एक बार देना हैं : रु 0 से  रु 9,999
  • नवीनीकरण शुल्क को आपसे प्रति वर्ष लिया जाता है : रु 0 से  रु 9,999
  • ऐड-ऑन शुल्क प्रति वर्ष : शून्य

ख.) विस्तारित क्रेडिट (Extended Credit)

  • ब्याज मुक्त क्रेडिट अवधि : 20 से 50 दिन तक केवल (खुदरा खरीद के लिए लागू होता हैं और इसके साथ पिछले महीने की बकाया राशि को पूरा करने के लिए)
  • न्यूनतम देय राशि : यह राशि कुल बकाया का 5% (न्यूनतम 200 रु) + सभी लागू शुल्क + EMI (EMI आधारित उत्पादों के मामले में) + OVL राशि (यदि कोई हो) लगाया जाता हैं.
  • वित्त शुल्क : 3.50% प्रति माह (42% प्रति वर्ष) होता हैं.
  • अतिदेय वित्त शुल्क : 3.65% प्रति माह (43.8% प्रति वर्ष) और यदि 12 माह में दो बार न्यूनतम राशि की भुगतान नहीं किया जाता हैं तो 25 रु का शुल्क लगाया जाता हैं.

ग.) नकद अग्रिम (Cash Advance)

  • नकद अग्रिम सीमा : यह क्रेडिट कार्ड का 80% तक होता हैं.
  • मुफ़्त क्रेडिट अवधि : शून्य हैं.
  • वित्त शुल्क : 3.50% प्रति माह (42% प्रति वर्ष).

घ.) नकद अग्रिम शुल्क (Cash Advance Fees)

  • एसबीआई एटीएम या अन्य घरेलू एटीएम के जरिए लेनदेन राशि 2.5% और कम से कम 500 रु का शुल्क लिया जाता हैं.

ड़.) अधिभार छूट (SBI Credit Card fuel surcharge)

  • क्रेडिट कार्ड के जरिए रेलवे टिकट के लिए किए गए लेनदेन पर 30 + 2.5% हैं.
  • किसी पेट्रोल पम्प से क्रेडिट कार्ड से लेनदेन पर 1% का अधिभार छूट मिलता हैं.
  • सीमा शुल्क भुगतान पर लेनदेन राशि का 2.25% (न्यूनतम रु. 75 के अधीन) हैं.

9.) कर कानून में बदलाव (Change in Tax Law Hindi)

  • भारत सरकार द्वारा 1 जुलाई 2017 से वस्तु एवं सेवा के ऊपर कर (GST) को लागू किया गया हैं. जैसे → 15% का कर लगता हैं तो आपका 18% GST शुल्क भी लागू होगा.

निष्कर्ष (Conclusion)

आज के इस SBI क्रेडिट कार्ड के नियम एवं शर्तें लेख में आपको एसबीआई से जुड़ी सारी क्रेडिट कार्ड के ऊपर फायदे और नुकसान में जी भी नियम और शर्तें होते हैं, उन सब को आज के इस लेख में दर्शाया गया हैं. जिससे आप अपने क्रेडिट कार्ड जो लाभ लेना चाहते हैं उसके लिए किन नियमों का पालन करना हैं इसे बेहतर से समझ सके और अपने लाभ को सही तरीके से प्राप्त कर पाए.

अगर आपको यह SBI Credit Card Ke Rule And Condition का लेख पसंद आया हो तो आप इस लेख को अपने दोस्तों और ग्रुप में जरूर शेयर करें जिससे अधिक लोग तक यह जानकारी पहुँच पाए और ज्यादा लोग इसके बारे में जानकारी प्राप्त करें.

Manish Tiwari

मेरा नाम मनीष तिवारी हैं और मैं B.Com का छात्र हूं। मैं इसके साथ Money Finance Info ब्लॉग का फाउंडर भी हूँ। फाउंडर होने के साथ−साथ मैं अपने ब्लॉग पर लेखक के रूप में काम भी करता हूं जहां क्रेडिट कार्ड के बारे में सही और सटीक जानकारी प्रदान की जाती है।

Leave a Comment